जानिए गुरु गोरखनाथ और उनके मंत्रों की महिमा | Guru Gorakhnath | Spiritual

13 Mar 2017 03:58 516
788,903
3,615 397

हिंदू समाज में कई संप्रदाय है जिनमें से नाथ संप्रदाय को सबसे प्राचीन माना जाता है। इस संप्रदाय के शुरुआती गुरुओं में गुरु गोरखनाथ जी शामिल थे।

गुरु गोरखनाथ को भारत में “नाथ हिंदू मठ आंदोलन” के साथ सम्मोहन और शाबर मंत्रों के लिए याद किया जाता है। आइए आज हम आपको बताते हैं गुरु गोरखनाथ के प्रेरणादायी जीवन और उनके साबर मंत्रों की शक्ति के बारे में।

सिद्ध शाबर मंत्र :-

”ॐ शिव गुरु गोरखनाथाय नमः!”

इसके अतिरिक्त भी कई शाबर मंत्र माने गए हैं जिनमें से दो निम्न हैं:

ॐ वज्र में कोठा, वज्र में ताला, वज्र में बंध्या दस्ते द्वारा, तहां वज्र का लग्या किवाड़ा, वज्र में चौखट, वज्र में कील, जहां से आय, तहां ही जावे, जाने भेजा, जांकू खाए, हमको फेर न सूरत दिखाए, हाथ कूँ, नाक कूँ, सिर कूँ, पीठ कूँ, कमर कूँ, छाती कूँ जो जोखो पहुंचाए, तो गुरु गोरखनाथ की आज्ञा फुरे, मेरी भक्ति गुरु की शक्ति, फुरो मंत्र इश्वरोवाचा.

ॐ नमो महादेवी सर्वकार्य सिद्धकर्णी जो पाती पुरे--- ब्रह्मा विष्णु महेश तीनों देवतन मेरी भक्ति गुरु की ---- शक्ति श्री गुरु गोरखनाथ की दुहाई फुरो मंत्र ईश्वरो वाचा---

ध्यान दें

ये दोनों और अन्य शाबर मंत्र बेहद प्रभावशाली माने जाते हैं। इन्हें गुरु या किसी ज्ञानी पुरुष के मार्गदर्शन में ही प्रयोग करना चाहिए।

Related of "जानिए गुरु गोरखनाथ और उनके मंत्रों की महिमा | Guru Gorakhnath | Spiritual" Videos

Gorakhnath's Rule

Gautam Sachdeva 30,971